top of page
  • Writer's picture

अब वृद्धावस्था पेंशन बनवाने के लिए नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, इंटरनेट के माध्यम से होगा सत्यापन

Updated: Jun 9


वृद्धावस्था पेंशन योजना के बारे में शासनादेश का संक्षिप्त सारांश:

  1. शासनादेश इलेक्ट्रॉनिक रूप से जारी किया गया है, अत: हस्ताक्षर की आवश्यकता नहीं है।

  2. इसकी प्रमाणिकता वेबसाइट http://shasanadesh.up.nic.in से सत्यापित की जा सकती है।

लाभार्थियों की पात्रता:

  • आयु: 60 वर्ष या उससे अधिक।

  • आय: शहरी क्षेत्र में अधिकतम ₹56460/- और ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम ₹46080/-।

पेंशन राशि:

  • 60-79 वर्ष के लाभार्थियों के लिए: ₹1000/- प्रति माह (₹800/- राज्यांश और ₹200/- केंद्रांश)।

  • 80 वर्ष या उससे अधिक के लिए: ₹1000/- प्रति माह (₹500/- राज्यांश और ₹500/- केंद्रांश)।

आवेदन प्रक्रिया:

  • ऑनलाइन आवेदन: https://sspy-up.gov.in पर।

  • दस्तावेज: रंगीन पासपोर्ट साइज फोटो, आयु प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, पहचान प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, और बैंक का विवरण।

  • फोटो साइज: 20 केबी से अधिक नहीं।

  • दस्तावेज अपलोड: 200 केबी से अधिक नहीं।

सत्यापन और स्वीकृति:

  • सत्यापन अवधि: अप्रैल से जून।

  • ऑनलाइन आवेदन: 01 अप्रैल 2016 से अनिवार्य।

  • डिजिटल हस्ताक्षर: आवश्यक।

सहायता और जानकारी:

  • समाज कल्याण, महिला कल्याण और विकलांग जन विकास विभाग द्वारा संचालित।

  • जनसमूह में जानकारी फैलाने के लिए विभिन्न माध्यमों का उपयोग।

जिला स्तरीय समितियां:

  • जिला अधिकारी अध्यक्ष।

  • मुख्य विकास अधिकारी और संबंधित विभाग के अधिकारी सदस्य।

  • मासिक बैठक: कम से कम एक बार।

समस्याओं का समाधान:

  • तकनीकी समस्याओं का समाधान: जिला सूचना विज्ञान अधिकारी के माध्यम से।

इस शासनादेश का उद्देश्य वृद्धावस्था पेंशन योजना के आवेदन, स्वीकृति, और वितरण प्रक्रिया में पारदर्शिता और समयबद्धता सुनिश्चित करना है।

2 views0 comments

留言


bottom of page